Wednesday 20 June 2018

#जम्मू_कश्मीर_में_राज्यपाल_शासन_क्यूँ ???

#जम्मू_कश्मीर_में_राज्यपाल_शासन_क्यूँ ???


जम्मू-कश्मीर को #धारा_370 के तहत विशेष राज्य का दर्जा प्राप्त है, राज्य में अलग संविधान है जिसके तहत यहां पर राष्ट्रपति शासन की बजाय राज्यपाल शासन लगाया जाता है।

जम्मू-कश्मीर में बीजेपी ने पीडीपी से गठबंधन तोड़ लिया है और सरकार से समर्थन वापस लेने की घोषणा कर दी है. ऐसे में वहां की सरकार अल्पमत में आ गर्ई है और बीजेपी ने राज्य में राज्यपाल शासन लगाने की मांग की है..

एक बात आपके दिमाग में जरूर आ रही होगी कि ऐसी स्थिति में देश के अन्य राज्यों में भारतीय संविधान की #धारा_356 के तहत राष्ट्रपति शासन लगाया जाता है लेकिन जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन क्यों ?

दरअसल, जम्मू-कश्मीर के संविधान की #धारा_92 के मुताबिक, राज्य में संवैधानिक तंत्र की विफलता के बाद भारत के राष्ट्रपति की मंजूरी से 6 महीने के लिए राज्यपाल शासन लगाया जा सकता है.राज्यपाल शासन लगने के 6 महीने के भीतर अगर राज्य में संवैधानिक तंत्र दोबारा बहाल नहीं हो पाता है तो भारत के संविधान की धारा 356 के तहत जम्मू-कश्मीर में राज्यपाल शासन के समय को बढ़ा दिया जाता है और यह राष्ट्रपति शासन में #तब्दील हो जाता है. अब तक जम्मू-कश्मीर में 7 बार राज्यपाल शासन लगाया जा चुका है.

#राज्यपाल_शासन_में :-
- जम्मू-कश्मीर के संविधान की धारा 92 (1) के तहत राज्यपाल राज्य के साथ सरकार के भी प्रमुख होंगे।
- प्रशासनिक अधिकारियों पर राज्यपाल का सीधा नियंत्रण होगा और  मुख्य सचिव की भूमिका बेहद अहम रहेगी।
- राज्यपाल राज्य की जरूरत के हिसाब से सलाहकारों की नियुक्ति करेंगे। सलाहकारों की राज्य प्रशासनिक परिषद (एसएसी) का गठन किया जाएगा।
- सलाहकार कैबिनेट मंत्रियों की तरह व एसएसी कैबिनेट की तरह कार्य करेगी। अलग अलग विषय के सलाहकारों को अलग विभाग मिलेंगे और वे विभाग संबंधी फैसले कर सकेंगे।
- राज्य की जरूरत से जुड़े सभी बड़े फैसले राज्यपाल की अध्यक्षता वाली एसएसी की बैठक में होंगे।
- राज्यपाल शासन अधिक से अधिक छह महीने तक का होता है। इसके बाद राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू होता है।
- राज्य की पॉलिटिकल पार्टियों के बीच सरकार बनाने पर आम राय बनने की स्थिति में राज्यपाल शपथ ग्रहण के बाद राज्यपाल शासन हटा सकते हैं।(संकलन).✍️$apna.🇮🇳

22 comments:

  1. Council of Higher Secondary Education (CHSE) Odisha has Going to Conducting the 12th Class (Plus two) Public Examination 2022, Odisha +2 Exam Every Year Conducted Month of March, Every Year 5 Laks of Students Appeared, CHSE Odisha Recently Announce 12th Class Exam Time Table 2022 Pdf Available at Official Website. Odisha Board Model Paper for Plus Two Advise the Students Awaiting their Odisha +2 Question Paper 2022 to Bookmark this webpage for All the Necessary Updates and Information Regarding the Declaration of the 12th Class Exam Pattern, Syllabus, Marking Scheme. Provide SSLC Latest and Last Year Exam Study Material for Syllabus, Question Paper etc, Hindi, English Medium Pdf Format.

    ReplyDelete

Blog Archive